Double Bottom Pattern (डबल बॉटम चार्ट पैटर्न) Kya Hai Full Detail Hindi

Double Bottom Chart Pattern दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एक बुलिश चार्ट पेटर्न के बारे में अगर आप इस चार्ट पेटर्न कोअच्छे से समझ लेते हो और इस पैटर्न पर आप प्रैक्टिस कर लेते होतो आप इंट्राडे ट्रेडिंग, स्विंग ट्रेडिंग और मार्केट में निवेश करते समय बहुत बड़ा प्रॉफिट जनरेट कर सकते हो |

शेयर मार्केट में कैंडलेस्टिक चार्ट पेटर्न में सबसे महत्वपूर्ण चार्ट पेटर्न डबल बॉटम चार्ट पैटर्न इसे माना गया है क्योंकि इस पैटर्न के बनने के बाद मार्केट में बहुत बड़ी रैली आती है क्योंकि इस चार्ट पेटर्न की लोकप्रियता और accuracy बहुत ज्यादा है |

दोस्तों हमने पिछली पोस्ट में आपको हेड एंड शोल्डर चार्ट पैटर्न सिखाया था ठीक इसी प्रकार से इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे की डबल बॉटम चार्ट पेटर्न में आपको एंट्री कैसे लेनी है टारगेट कितना रखना है स्टॉप लॉस कहां लगाना है और इसके साथ ही लाइव मार्केट में इस चार्ट पेटर्न को कैसे पहचाना है |

दोस्तों अगर आप पूरा ध्यान पूर्वक इस पोस्ट को पढ़ते हो तो आपको दोबारा से डबल बॉटम चार्ट पेटर्न के बारे में सीखना नहीं पड़ेगा क्योंकि मैं यहां पर आपको इस पैटर्न की हर ख़ूबी हर जानकारी आपके साथ शेयर करने वाला हूँ तो चलिए आज की पोस्ट शुरू करते हैं और आपको बताते हैं यह चार्ट पेटर्न कैसे काम करता है और आपको इस चार्ट पेटर्न के बनने के बाद क्या साइकोलॉजी रखना है  |

Double Bottom Chart Pattern

Double Bottom Pattern Kya Hota Hai

दोस्तों यह पैटर्न मार्केट के किसी शयेर या इंडेक्स मार्केट के चार्ट में Down ट्रेंड में बनता है मार्केट ऊपर से नीचे आ रही होती है तब मार्केट सपोर्ट लेवल पर दो चोटियां बनती है और रेजिडेंस लेवल की तरफ एक चोटी बनती है यह आपको देखने में अंग्रेजी के Word “W” की तरह दिखाई देता है |

दोस्तों जब शयेर की कीमत नीचे आ रही होती है लोअर लो लगाकर शयेर की कीमत एक सपोर्ट लेवल पर आकर रुक जाती है वहां से दोबारा ऊपर की तरफ चलती है एक रेजिडेंस लेवल (एक स्तर) पर जाकर रुक जाती है वहां से फिर दोबारा नीचे की तरफ आती है अब पहली बार जहां से शयेर की कीमत ने सपोर्ट लिया था इस स्तर पर आकर शयेर की कीमत दोबारा से रुक जाती है |

पहले वाले सपोर्ट लेवल को बॉटम1 और अब जब शयेर की कीमत दोबारा आकर रुकी है उसे हम बॉटम2 बोलेंगे जैसा आप पिक्चर में देख रहे हैं ठीक इसी प्रकार से यह पैटर्न बनता है |

double bottom chart pattern kya hai

शयेर की कीमत बॉटम1 से चलने के बाद जहां रेजिडेंस लेवल पर रुक कर वापस बॉटम 2 की तरफ आई थी अब बॉटम2 से शयेर की कीमत दोबारा से रेजिडेंस लेवल पर पहुंचेगी तब यह पैटर्न पूरा हो जाता है इस डबल बॉटम पैटर्न बोला जाता है |

अब आप इसमें दो प्रकार से ट्रेड ले सकते हैं अगर आपको मार्केट के बारे में पूरी जानकारी है और आप कैंडलेस्टिक पेटर्न को पहचानते हो तो जहां पर इस पैटर्न में बॉटम 2 बना था वहां पर आप एक अच्छी बुलिश कैंडल देखकर और उसके ब्रेक आउट पर ट्रेड ले सकते थे अगर आपने वहां पर ट्रेड नहीं लिया है तो अब आप रेजिडेंस लेवल के ब्रेक आउट का इंतजार करिए और उसके बाद Retest पर ट्रेड ले सकते हैं |

इस पैटर्न में ट्रेड कैसे लेना है उसके बारे में हम आगे बताने वाले हैं विस्तार से और साथ इसमें स्टॉप लॉस कहां लगाना है टारगेट कितना रखना है इसके बारे में भी चर्चा करेंगे | डबल टॉप पैटर्न

डबल बॉटम पैटर्न का निर्माण कैसे होता है

शेयर बाजार में चार्ट पेटर्न का निर्माण Traders की साइकोलॉजी से होता है Traders जैसा सोच कर डिसीजन लेते हैं चार्ट में वह आपको देखने को मिलता है डबल बॉटम चार्ट पेटर्न का निर्माण जब होता है जब मार्केट डाउन ट्रेंड में होती है |

मैं आपको इस चार्ट पेटर्न के निर्माण होने की साइकोलॉजी बताने जा रहा हूं दोस्तों जरा सोचिए हम कोई भी चीज सस्ते भाव में खरीदना पसंद करते हैं ठीक इसी प्रकार से अगर हम भी शेयर मार्केट में कोई भी शेयर कम दाम पर खरीदेंगे और आगे चलकर उसका दाम बढ़ जाता है तो हमें प्रॉफिट मिलता है कोई भी ऐसा ट्रेड नहीं है जो मार्केट के किसी शेयर के हाई प्राइस पर उसे खरीदें और उसे कम प्राइस में बेचे |

मान लीजिए शेयर मार्केट में शेयर बाजार में किसी कंपनी के शेयर की कीमत घटे जा रही है यानी की उसका शेयर डाउन ट्रेंड में चल रहा है जैसे-जैसे शेयर का प्राइस डाउन ट्रेंड में जाता जाएगा तो एक ऐसा लेवल पर आने के बाद जहां पर उस शेयर का प्राइस सभी को लुभाने लगेगा और सभी उसे खरीदना पसंद करेंगे |

अब स्टॉक मार्केट में बैठ बड़े-बड़े इंसाइडर, ट्रेडर तथा निवेशक उसे शेयर में बहुत ज्यादा ऑर्डर में खरीदारी कर देंगे इस वजह से एकदम से उसे शेयर का प्राइस ऊपर भागने लगेगा यहां पर उसे शेयर के चार्ट में Downtrand से एक लेवल पर स्टॉक सपोर्ट लेकर जैसे ही ऊपर गया तो अंग्रेजी के अक्षर “V” के तरह कि शेप बन गई 

अब एक ऐसे लेवल पर जाकर उसे शेयर की कीमत में खरीददारों को लगेगा कि अब प्रॉफिट बुक कर लेना चाहिए तो वह अपना प्रॉफिट बुक करेंगे और उस शेयर को बेचेंगे जैसे ही उसे शेयर को वह सभी बेचेंगे तो शेयर दोबारा से अपने इस सपोर्ट लेवल पर आ जाएगा जहां से उसमें एकदम से बड़ी खरीददारी आई थी 

अब दोबारा से जिन्होंने उसे शेयर को नहीं खरीदा था जिनके हाथ से यह अपॉर्चुनिटी निकल गई थी तो वह अब दोबारा से इसमें खरीदने को तैयार है जैसे ही नई Buyers इस शेयर को खरीदेंगे दोबारा से शेयर की कीमत में तेजी आएगी और फिर से वह शेयर की कीमत ऊपर की तरफ भागेगी और “W” उस सपोर्ट लेवल पर जाकर थोड़ा धीरे हो जाएगी जहां से शेयर को बेचा गया था 

Double Bottom Chart Pattern nirman

अब मार्केट के सभी Buyer और Seller सेलर की नजर उसे शेयर पर पड़ेगी तो सभी को लगेगा कि इस शहर में ट्रेंड चेंज हो गया है इसलिए वह भी अपनी एंट्री बना लेंगे जिस वजह से उसे शेयर का प्राइस और ऊपर की तरफ भागने लगेगा इस प्रकार से इस पैटर्न का स्टॉक मार्केट के चार्ट पर निर्माण होता है |

Double Bottom Pattern की पहचान कैसे करें

दोस्तों शेयर या इंडेक्स के चार्ट में आपको डबल बॉटम पैटर्न को पहचानने के लिए सबसे पहले तो मार्केट का Down ट्रेंड चेक करना है की मार्केट गिरते हुए ट्रेंड में हो उसके बाद बॉटम में मार्केट सपोर्ट लेकर एक बार ऊपर गई हो और उसके बाद रेजिडेंस लेकर नीचे आई हो 

इस प्रकार से आपको चार्ट पर बॉटम पर होरिजेंटल लाइन ड्रा कर लेनी है और रेजिडेंस पर भी होरिजेंटल लाइन ड्रा कर लेनी है जिससे आपको पहले तो मार्केट में अंग्रेजी के अक्षर V के आकार का शेप दिखाई देगा जब मार्केट रेजिडेंस लेवल से रेजिडेंस लेकर वापस नीचे आ गई होगी सपोर्ट लेवल पर तो आपको अंग्रेजी का अक्षर N उल्टा दिखाई देगा तब आपको समझ लेना है कि अब यहां पर डबल बॉटम पैटर्न बनने वाला है अभी भी आपको पैटर्न को चार्ट पर पूरा होने देना है |

जैसे ही मार्केट दूसरी बार बॉटम पर सपोर्ट लेकर एक बुलिश कैंडल बनाए और उसे अगली कैंडल उस बुलिश कैंडल का हाई ब्रेक कर दे तो आपको समझ लेना है अब मार्केट डबल बॉटम बनाने वाली है और ऊपर की तरफ रेजिडेंस लेवल तक जाएगी |

Double Bottom चार्ट पैटर्न में टाइम फ्रेम कितना सेट करें

दोस्तों हर कोई ट्रेडर टाइम अपने सुविधा के अनुसारअपने टाइम फ्रेम का उपयोग करता है जैसे अगर दोस्तों आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे हैं और आपको मार्केट में कुछ ही घंटे के लिए रहना है और अपना प्रॉफिट निकालना है तो इसके लिए आपको 15 मिनट का टाइम फ्रेम उपयोग करना चाहिए |

और आप अगले एक हफ्ते 10 दिन या 15 दिन के लिए ट्रेड कर रहे हैं स्विंग ट्रेडिंग कर रहे हैं तो आप उसके अंदर 1 घंटे, 4 घंटे का टाइम फ्रेम का उपयोग कर सकते हैं |

दोस्तों इसके अलावा आप किसी शेयर को अगले 6 महीने या 1 साल तक होल्ड करके रखना चाहते हैं तो आपको 1Day एक दिन का टाइम फ्रेम चूज करना चाहिए |

Double Bottom Pattern में ट्रेड कब लें

दोस्तों जब शेयर की कीमत रेजिडेंस लेवल से चलकर बॉटम 2 पर आती है और एक कैंडल बॉटम 2 के सपोर्ट लेवल को ब्रेक करने की कोशिश करती है उसका कलर लाल हो जाता है और उसके बाद एकदम से वह लाल कैंडल हरि किंडल में बदल जाती है |

उसके बाद आपको सचेत हो जाना है अब आपके इंतजार करना है अगली कैंडल पिछली कैंडल का जैसे ही अगली कैंडल पहले वाली हरी कैंडल का High हाय ब्रेक करती है तब आपको यहां परट्रेड बना लेना है |

double bottom chart pattern me trade kaise le

यहां पर एक सिनेरियो और भी हो सकता है जो पहले हरि कैंडल बनी है उससे आगे वाले नेक्स्ट कैंडल पहले वाले हरि कैंडल का Low ब्रेक ना करें तब भी आप यहां पर अपनी ट्रेड पच कर सकते हैं |

डबल बॉटम पैटर्न में टार्गेट कितना सेट करें

डबल बॉटम चार्ट पेटर्न में ट्रेड लेने के बाद आप टारगेट रेजिडेंस लेवल तक का ले सकते हैं जैसा कि मैं आपके ऊपर बताया जैसे ही शेयर का प्राइस बॉटम एक से रेजिडेंस लेवल तक जाता है और वहां से वापस बॉटम 2 पर आता है तो अब दोबारा बॉटम 2 से प्राइस शेयर का प्राइस रेजिडेंस लेवल तक जाएगा इसलिए 

आप रेजिडेंस लेवल तक का टारगेट लगा सकते हैंअगर रेजिडेंस लेवल पर जाकर मार्केट अगले कुछ घंटे तक कंसोलिडेटेड करती है कंसोलिडेटेड चार्ट पेटर्न बनती है तो आप वहां पर और ऊपर के लिए भी टारगेट ले सकते हैं यहां पर आपको अपना स्टॉपलॉस ट्रेल करना होगा |

Double Bottom Chart Pattern में स्टॉप लॉस कैसे लगाये

दोस्तों स्टॉक मार्केट में कोई भी ट्रेड लेने से पहले अपना टारगेट और स्टॉप लॉस डिसाइड करना होता है शेयर बाजार में कुछ भी हो सकता है मार्केट कभी भी पलट सकती है डबल बॉटम पैटर्न में स्टॉपलॉस लगाने के लिए को थोड़ा सा कैलकुलेशन करना होगा |

[ डबल बॉटम स्टॉप लॉस = (रेजिस्टेंस- सपोर्ट)/4 ]

मान लीजिए शेयर का प्राइस रेजिडेंस लेवल पर ₹100 था उसके बाद रेजिडेंस लेवल से जैसे ही शेयर का प्राइस बॉटम 2 पर आया तो उसे समय उसकी कीमत ₹60 हो गई थी |

स्टॉप लॉस = 100-60=40  

स्टॉप लॉस = 40/4=10

स्टॉप लॉस = 10 रुपये 

इस प्रकार से आप अपना स्टॉपलॉस डबल बॉटम पैटर्न में ₹10 नीचे लगा सकते हैं |

Double Bottom Chart Pattern में Fake Break Out से कैसे बचे

दोस्तों जब चार्ट पर डबल बॉटम पैटर्न बनता है और पूरी तरह से कंफर्म हो जाता है की डबल बॉटम पैटर्न बनने वाला है तो उसे समय आपको उसे शेयर का वॉल्यूम चेक करते रहना चाहिए अगर वॉल्यूम लाल रंग में दिख रहा है और शेयर का प्राइस थोड़ा ऊपर नीचे हो रहा है वहां पर कैंडल हरि बन रही है और लंबी बना रही है तो सोच लेना मार्केट में गड़बड़ चल रही है |

आपको वहां पर बहुत सचेत रहना होगा जब तक कंफर्ममेंसेन ना मिले तब तक आपको ट्रेड नहीं लेना चाहिए क्योंकि मार्केट में कई बार दिखाई कुछ जाता है और होता कुछ है इसलिए फेक ब्रेक आउट से बचने के लिए आपको शेयर का वॉल्यूम चेक करना बहुत जरूरी है अगर वॉल्यूम लाल कलर में है और बढ़ रहा है तो आपको वहां पर ट्रेड लेने से बचना चाहिए क्योंकि यह फेक ब्रेक आउट हो सकता है और आपका स्टॉपलॉस जा सकता है |

Summary

मेरा सबसे फेवरेट चार्ट पेटर्न डबल बॉटम पैटर्न है मैं इसी को ही ज्यादा ट्रेड करता हूं इसलिए आपको भी मैं सजेस्ट कर रहा हूं कि आप इसे अच्छी तरह से समझे प्रेक्टिस करें आपको मार्केट में बहुत फायदा देने वाला पैटर्न है |

उम्मीद करता हूं दोस्तों अपने इस पोस्ट को पूरा ध्यान पूर्वक पड़ा होगाऔर आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा जैसा कि दोस्तों मैं यहां पर आपको डबल बॉटम पैटर्न में फेक ब्रेक आउट से कैसे बचाना है ट्रेड कैसे लेना है स्टॉप लॉस कहां लगाना है टारगेट कितना लेना है और लाइव मार्केट में चार्ट पर डबल बॉटम पैटर्न को कैसे पहचाने यह सभी बहुत अच्छे तरीके से समझाया है |

फिर भी दोस्तों इस पोस्ट में किसी प्रकार की कोई कमी रह गई है या फिर कोई ऐसा पॉइंट जोड़ना जरूरी था जो मुझे मिस हो गया है तो आप हमें उसे पॉइंट के बारे में कमेंट करके जरूर बताएं हम उसे इस पोस्ट में जोड़ने की कोशिश करेंगे धन्यवाद |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Trader Krishan

नमस्कार मैं कृष्ण कुमार इस ब्लॉग का संस्थापक हूं मैं पैसे से Youtuber पर और Blogger हूं मुझे ट्रेडिंग करते हुए 3 साल हो गए हैं अभी तक मैंने मार्केट शेयर बाजार के बारे मे जितना सीखा है उसे मे Tradezonezero.com हिन्दी blog के माध्यम से आप के साथ बाटना चाहता हु। |

Leave a Comment